बच्चों के प्रति ध्यान रखने वाली जरूरी बातें, क्या करें क्या ना करें

बच्चों के प्रति ध्यान रखने वाली जरूरी बातें– आज कल की भागदोड़ भरी जिन्दगी में माँ-बाप अपने बच्चों को समय ही नही दे पाते हैं।  माँ-बाप के समय ना दे पाने की वजह से बच्चों में तमाम तरह की बुराइयाँ आ जाती हैं। ज्यादातर व्यस्त माँ -बाप अपने बच्चों को अच्छा बचपन देने के लिए अच्छे स्कूल में एडमिशन कराते हैं। बच्चों तमाम सुविधाएँ देंगे की भी कोशिश करते हैं। लेकिन इसके बावजूद बच्चों को समय देना जरूरी है। बच्चों को समय-समय पर गाइड करना भी बहुत ही जरूरी हो जाता है।  

जो माता-पिता अपने बच्चों को समय नहीं देते हैं। उनका ध्यान नहीं रखते उनके बच्चे अक्सर गलत राह पकड़ लेते हैं । इसीलिए माता -पिता को बच्चे का जिन्दगी के शुरूआती सफ़र में समय-समय पर ध्यान रखना बहुत जरूरी है | 

बच्चों के प्रति ध्यान कैसे रखें 

बच्चों के प्रति माता-पिता को बहुत सारी बातें ध्यान में रखनी चाहिए।  जिससे बच्चे को सही दिशा दी जा सके और बच्चे का भविष्य तय किया जा सके।  इनमे भी कुछ बातें बहुत ही जरूरी हैं । 

1- दोस्तों का रखें ध्यान- दोस्ती हर किसी के लिए बहुत ही महत्व रखती है चाहे वह बच्चा हो या बड़ा हो ।  बच्चों में अक्सर देखा गया है कि बच्चे अपने दोस्तों पर बहुत ज्यादा विश्वास करते है । बच्चे एक दुसरे की बात का भरोशा आसानी से करते हैं।  बच्चे जैसे–जैसे बड़े होते हैं उनका दोस्ती में भरोसा बढ़ता जाता है।  इसलिए अगर बच्चे के दोस्त अगर सही नहीं हैं तो भी बच्चे के साथ सख्ती से पेश ना आयें ।  बच्चे को बड़े प्यार और भरोसे के साथ समझाने की कोशिश करें तथा गुस्से में आकार आप यह तय ना करें कि किस से दोस्ती रखनी है और किस से नहीं।  ऐसा करने से बच्चा परेशानी महसूस करेगा और आपकी बात को अनसुना कर सकता है । 

2- दुसरे बच्चों से तुलना ना करें- कभी भी माता-पिता को अपने बच्चे की दुसरे से तुलना नहीं करनी चाहिए ।  ऐसा करने से बच्चे के अन्दर इर्ष्या उत्पन्न हो जाती है और बच्चे उसके बारे में बार बार सोचते है । जिसके कारण उनका ध्यान भटकता है और जिसके कारण बच्चा गलत कदम उठा सकता है । 

3- बच्चों के ऊपर अपनी उम्मीद न थोपें- बच्चों पर अपनी उम्मीद थोपना सरासर गलत है।  क्योंकि जो आप बच्चे से कराना चाहते हो, हो सकता है कि बच्चे को उसमें रूचि ना हो जिसके कारण बच्चा आपकी उम्मीद पर खरा ना उतर सके।  इसलिए बच्चे को उसकी रूचि के अनुसार सपने पूरे करने में उनका साथ दें जिससे बच्चे का भविष्य बन सके । 

4- बच्चों पर गुस्सा न निकालें- सभी माता-पिता के साथ कभी न कभी ऐसी परिस्थिति आ जाती है । जिसके कारण वह परेशान जाते हैं। ऐसी स्थिति में अपना गुस्सा अपने बच्चों पर ना निकालें।  कई बार देखा गया है कि बच्चे अक्सर माता-पिता के गुस्से का शिकार हो जाते हैं। बच्चे के लिए कभी ऐसे शब्दों का इस्तेमाल ना करें जोकि बच्चों को लगे कि वो बोझ बन गये हैं।  ऐसी स्थिति में बच्चे गलत कदम उठा सकते हैं । 

5- बच्चे को बोझ न समझें- बहुत बार माता-पिता को गुस्से में बच्चों से कहते सुना होगा कि तुम हमारे जीवन की एक गलती हो।  इस बात को कुछ बच्चे तो अनसुना कर देतें है । कुछ बच्चे इस बात को सीरियस ले लेते हैं । जिसके कारण वे बच्चे अपने माता-पिता से अलग होना शुरू कर देते हैं । इन शब्दों के कारण उनकी इज्ज़त करना बंद कर देते हैं। इसलिए बच्चों के लिए ऐसे शब्दों का इस्तेमाल ना करें और उन्हें बोझ जैसा महसूस ना कराए । 

6- बच्चों के साथ अपनापन शेयर करें- माता-पिता को अपने बच्चों के साथ अपनापन शेयर करना चाहिए एवं मित्र जैसा व्यवहार करना चाहिए।  जिस से बच्चों को अच्छा महसूस होगा और वे अपनी हर बात आपसे शेयर कर सकेंगे।  जिसके कारण आपको उनके जीवन में चलने वाली हर अच्छी एवं बुरी आदत के बारे में पता चलता रहेगा। ऐसे ही आप अपने बच्चों को सही दिशा दे पाएंगे ।  

Disclaimer

इस आर्टिकल में शेयर की गई जानकारी, उपचार के तरीके, और विधि आपकी जानकारी और बचाव के लिए है।  कायाबज.इन इसकी नैतिक जिम्मेदारी नहीं लेता । ये जानकारी और सुझाव मात्र शिक्षित करने के लिए हैं। इस तरह की कोई भी उपचार और दवा लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *